दुर्गा देवी की कथाएँ

पढ़िए भगवती दुर्गा देवी की अद्भुत कथाएं और बढ़ाये माँ के प्रति अपनी भक्ति

सूरथ नाम के राजा और समाधि नाम के वैश्य पर देवी की कृपा की कथा

बहुत पहले की बात है सूरथ नाम के एक राजा थे जो प्रजा का अपने पुत्रों की तरह पालन करते थे । एक समय सूरत राजा की दुश्मनी कोला विध्वंसी नाम के क्षत्रियों से हो गई ।  युद्ध में सेना… Read More ›

महाराज परीक्षित की मृत्यु कैसी हुई थी

महाराज परीक्षित पांडु वंश के बड़े प्रतापी राजा थे । अर्जुन पुत्र अभिमन्यु के ये पुत्र थे । कुरुक्षेत्र के युद्ध होने के छत्तीस वर्ष बाद पांडु पुत्र युधिष्ठिर ने परीक्षित को राज सिंहासन पर बिठा कर स्वयं हिमालय चले… Read More ›

जगदम्बा का दुर्गा नाम कैसे पड़ा

प्राचीन समय मे दुर्गम नाम का एक दैत्य था । वेद देवताओं का बल है और यदि वेद देवताओं के पास ना रहे तो ओ दुर्बल होजाएंगे ये सोचकर उसने वेदों को प्राप्त करनेके लिए,  हिमालय पर जाके ब्रह्मजीकी तपस्या… Read More ›

जानिए जगदम्बा का शताक्षी और शाकम्भरी नाम कैसे पड़ा

प्राचीन समय में दुर्गम नाम का एक राक्षस था जो हिरण्याक्ष के वंश में उत्पन्न हुआ था और राजा रुरु का पुत्र था । देवतावों को वेदों से बल मिलता है, यदि  मैं वेदों को नष्ट खारदुंग तो देवता बलहीन… Read More ›

रक्तबीज का वध

बहोत पहले की बात है , शुम्भ और निशुम्भ नामके दैत्यों ने देवराज इंद्र से त्रिलोकी का राज्य छीन के सारे देवतावों के काम स्वयं ही करने लगे और देवताओं को स्वर्ग से बाहर निकल दिया । तब देवताओं ने… Read More ›