Stories from Hindu Scriptures

Krishna Episode 2

कृष्णा भाग २ – कंस के अंत की आकाशवाणी

  प्राचीन समयकी बात है ,यमुनाके मनोहर तटपर मधुवन नामका एक वन था। वहाँ लवणासुर नामसे विख्यात एक प्रतापी दानव रहता था। उसके पिताका नाम मधु था। वरके प्रभावसे लवणासुरके अभिमानकी सीमा नहीं थी। उस दुष्टसे सभी जीव कष्ट पा रहे थे। लक्ष्मण के छोटे भाई शत्रुघ्नने उस महाभिमानी दैत्यको संग्राममें मार डाला और वहीं… Read More ›

Krishna Incarnation - Sufferings of Mother Earth

भाग १ – देवी पृथ्वी के असहनीय दुख और भगवान् द्वारा अवतार ग्रहण का वचन

  द्वापर युग की बात है,लाखों दैत्यों ने राजाओं का वेश धारण करके इस पृथ्वी पर जन्म लिया था । कंस,पूतना,चाणूर, कालयवन, जरासंध, तृणावर्त, कागासुर, अघासुर, प्रलंबासुर, नरकासुर, शकटासुर, वत्सासुर,बकासुर,अरिष्टासुर,धेनुकासुर, कालिया ,व्योमासुर, कैवल्यपीड, बाणासुर, पौंड्रक, शिशुपाल,दंतवक्र ये सारे दैत्य इन में से प्रमुख थे।  राजा रूपी दैत्यों ने पृथ्वी पर स्थित मनुष्यों पर अनेक अत्याचार… Read More ›

भगवती जगदम्बा के सिद्धपीठों के नाम

पूर्व समय की बात है दक्षप्रजापति ने भगवती जगदम्बा की आराधना करके उनको अपनि पुत्री के रूप में पाया था । दक्षने देवीके इस अवतार का नाम सती रख दिया, आगे चलकर दक्षने अपनी पुत्री सती का विवाह भगवान शिव से कर दिया । परंतु पूर्व समय के पाप कर्म के कारण दक्ष प्रजापति के… Read More ›

जानिए क्यों दक्षके मन में उत्पन्न हुआ था शिव और सती के प्रति द्वेष

पूर्व समय की बात है सृष्टि में हलाहल नाम के देत्य उत्पन्न हुए थे । ब्रह्माजी के वरदान से यह दैत्य बहुत ही अभिमानी हो गए थे । समस्त त्रिलोकी को जीतकर इन दैत्यों ने विष्णु लोक और शिव लोके को जीतने के अभिप्राय से इन दोनों लोकों को घेर लिया था । दैत्यों को… Read More ›

Loading…

Something went wrong. Please refresh the page and/or try again.

%d bloggers like this: