Author Archives

  • गोलोक में गंगा की उत्पत्ति की कथा

      एक समय की बात है कार्तिकी पूर्णिमा के अवसर पर गोलोक  में राधा महोत्सव मनाया जा रहा था । इस अवसर पर भगवान श्री कृष्ण  ने श्री राधा जी पूजा की , उसके बाद ब्रह्मा और शिव आदि सहित… Read More ›

  • कैसे उत्पन्न हुई सुरभि माता – जो सब गौओं की जननी है

    एक बार पूर्ण परब्रह्म श्री कृष्ण अपने गोलोक स्तिथ वृन्दावन में अपनी प्रिय राधा जी के साथ विहार कर रहे थे । ये वृन्दावन अनेक तरह के सरोवरों से , नाना प्रकार के पेड़ों से भरा है ।, अनेक पहाड़… Read More ›

  • जगदम्बा का दुर्गा नाम कैसे पड़ा

    प्राचीन समय मे दुर्गम नाम का एक दैत्य था । वेद देवताओं का बल है और यदि वेद देवताओं के पास ना रहे तो ओ दुर्बल होजाएंगे ये सोचकर उसने वेदों को प्राप्त करनेके लिए,  हिमालय पर जाके ब्रह्मजीकी तपस्या… Read More ›

  • जानिए जगदम्बा का शताक्षी और शाकम्भरी नाम कैसे पड़ा

    प्राचीन समय में दुर्गम नाम का एक राक्षस था जो हिरण्याक्ष के वंश में उत्पन्न हुआ था और राजा रुरु का पुत्र था । देवतावों को वेदों से बल मिलता है, यदि  मैं वेदों को नष्ट खारदुंग तो देवता बलहीन… Read More ›

  • रक्तबीज का वध

    बहोत पहले की बात है , शुम्भ और निशुम्भ नामके दैत्यों ने देवराज इंद्र से त्रिलोकी का राज्य छीन के सारे देवतावों के काम स्वयं ही करने लगे और देवताओं को स्वर्ग से बाहर निकल दिया । तब देवताओं ने… Read More ›

  • शुम्भ और निशुम्भ का वध

    पूर्वकालमे शुम्भ और निशुम्भ नाम के दो रक्षोसो ने देवराज इंद्र से त्रिलोकी का राज्य छीन लिया था और सारे देवताओं को स्वर्गे से बाहर निकल दिया । शुम्भ और निशुम्भ ही सूर्य ,यम,अग्नि,वायु,कुबेर आदि सारे देवताओं के कार्य करने… Read More ›

  • चंड और मुंड का वध

    बहोत पहले की बात है , शुम्भ और निशुम्भ नामके दैत्यों ने देवराज इंद्र से त्रिलोकी का राज्य छीन के सारे देवतावों के काम स्वयं ही करने लगे और देवताओं को स्वर्ग से बाहर निकल दिया । तब देवताओं ने… Read More ›

  • धूम्रलोचन का वध

    पूर्वकाल की बात है शुम्भ और निशुम्भ नाम के दो राक्षसों ने बल के घमंड में आकर देवराज इंद्र के हाथसे तीनों लोगों का राज्यभार  छीन लिया और वही सूर्य चंद्रमा अग्नि वायु आदि सभी देवताओं के कार्य करने लगे… Read More ›

  • महिषासुर का वध

    बहुत पहले की बात है, एक बार देवताओं और दानवों में घोर युद्ध हुआ था , जो 100 वर्षों तक चला था, इस युद्ध में देवताओं  के नायक इंद्र थे और दानवो का नायक महिषासुर था इस युद्ध में देवता… Read More ›

  • मधु – कैटभ वध

    स्वरोचिश  नाम के मन्वंतर में सुरथ नाम के एक राजा रहते थे |  राजा अपने प्रजा का बच्चों की तरह पालन करते थे, इनकी दुश्मनी कोलविध्वंसि नाम के क्षत्रियों से हो गई । कुछ ही दिनों में राजा का इनके… Read More ›